मोबाइल वॉलेट क्या है? Mobile Wallet कैसे काम करता है, इसके क्या फायदे है ?

गुजरता हुआ वक्त बहुत कुछ सिखा रहा है बहुत कुछ नई चीजों को लेकर आ रहा है। हर तरफ परिवर्तन हो रहा नई-नई प्रकार की तकनीकियां आतीं जा रही है। आज का दैनिक जीवन बहुत आसान हो चुका है हम कुछ क्षण में अनेक कार्यों को कम्प्लीट कर सकते हैं क्योंकि अब जो समय चल रहा है इस समय तकनीकी चलन बहुत अधिक है सुबह से लेकर शाम तक ऐसा कोई कार्य नहीं जो तकनीकी सिस्टम के बिना कंप्लीट ना हो।


वर्तमान समय में आपके लिए बहुत सारी सुविधाएं उपलब्ध है। जिनका आप आसानी से लाभ उठा सकते हैं।

Mobile Wallet भी इन्हीं सुविधाओं में से एक है। आज इसके बारे में सम्पूर्ण जानकारियां आसान शब्दों में जानने की कोशिश करते हैं।
तो आइए Friends नीचे ओर विस्तार से जानते हैं –

 

Mobile Wallet क्या है ?

मोबाइल वॉलेट एक डिजिटल वॉलेट होता है जो यूजर्स को स्मार्टफोन्स, टेबलेट्स आदि के माध्यम से किसी भी जगह से किसी भी वक्त भुगतान करने की सुविधा प्रदान करता है। अन्य शब्दों में मोबाइल वॉलेट्स स्मार्टफोन में मौजूद एक वर्चुअल वॉलेट के रूप में होता है जिसमें पैसे डिजिटल मनी के रूप में स्टोर किए जा सकते हैं। जिन पैसों को आप छू नहीं सकते परंतु आप कुछ भी खरीद जरूर सकते हैं। मोबाइल वॉलेट का यूज आप मोबाइल एप्स की मदद से कर सकते हैं। मोबाइल वॉलेट्स जिसने अपने आसान तरीकों से दुनिया को अपनी ओर आकर्षित कर लिया है। मोबाइल वॉलेट में आपको बैंक अकाउंट नंबर व पासवर्ड इन सभी चीजों की कोई जरूरत नहीं पड़ती है।
मोबाइल वॉलेट से पेमेंट करना बहुत तेज व सरल होता है।
उदाहरण के लिए – आप किसी कॉफी शॉप में जाते है, यदि यह कॉफी शॉप किसी मोबाइल वॉलेट सर्विस प्रोवाइडर से जुड़ी हुई है तो आप कॉफी का पैसा अपने मोबाइल वॉलेट्स से आसानी से कम समय में चुका सकते हैं।

 

Mobile Wallet के प्रकार –

मोबाइल वॉलेट के कई प्रकार होते हैं परंतु भारत में इसको चार भागों में विभाजित किया है। भारत के मोबाइल वॉलेट के चार प्रकार निम्न माध्यम से जानते हैं –

1. ओपन (Open) :

ओपन मोबाइल वॉलेट जिसमें आप बहुत प्रकार की सुविधाओं का लाभ ले सकते हैं जैसे – शॉपिंग, ट्रांजैक्शन और कैश भी निकाल सकते हैं। अर्थात् ओपन मोबाइल वॉलेट आपको एटीएम और अन्य साधनों से पैसा निकालने में सहयोग करता है।
उदाहरण – ICICI Pockets.

2. क्लोज्ड (Closed) :

क्लोज्ड मोबाइल वॉलेट यहां किसी विशेष कंपनी या मर्चेंट से linked होता है। इसमें जो पैसे सेव होते हैं उन्हें केवल आप उन्हीं विशेष कंपनियों से खरीदारी करके ही यूज़ में ला सकते हैं। अर्थात आप क्लोज मोबाइल वॉलेट से ना तो पैसा बैंक अकाउंट में डाल सकते हैं तथा कैश में भी नहीं बदल सकते।
उदाहरण – Flipkart, Amazon.

3. सेमी-क्लोज्ड (Semi-closed) :

सेमी क्लोज्ड मोबाइल वॉलेट में उपलब्ध पैसो का इस्तेमाल केवल आप डिजिटल उपयोग में ही कर सकते हैं जैसे – ऑनलाइन शॉपिंग व अन्य प्रकार की सर्विस का लाभ ले सकते हैं परंतु कैश निकालना नामुमकिन है।
उदाहरण – Paytm.

Mobile Wallet कैसे कार्य करता है
Mobile Wallet कैसे कार्य करता है

Mobile Wallet कैसे कार्य करता है ?

मोबाइल वॉलेट जिसका कार्य बहुत नॉर्मल होता है। जो आपके बैंक अकाउंट से पैसे को लेकर अपने पास सुरक्षित रूप से सेव करके रखता है। जब आपको जरूरत होती है यानी कि आप किसी मर्चेंट के पास से कोई प्रोडक्ट खरीद रहे हैं। मोबाइल वॉलेट से भुगतान कर रहे हैं तो मोबाइल वॉलेट अपने पास रखे पैसे को यूज करता है।
मोबाइल वॉलेट में पैसे डालने के लिए आप नेट बैंकिंग, डेबिट कार्ड एवं क्रेडिट कार्ड इनका प्रयोग कर सकते हैं।
इसके पश्चात आप कभी भी शॉपिंग करते हैं तो प्रोडक्ट कंपनी मोबाइल वॉलेट पेमेंट को पूर्ण रूप से स्वीकार करती है। अर्थात वॉलेट में जो पैसे सेव होते हैं। आप पेमेंट करने में उनका इस्तेमाल कर सकते हैं।
असलियत में मोबाइल वॉलेट में जो पैसा सेव होता है। वहां मोबाइल वॉलेट कंपनी के पास नहीं होता है। वहां रियलिटी में escrow account सुरक्षित रूप से सेव हो जाता है। इस अकाउंट में रखा पैसा केवल उसी जगह इस्तेमाल होता है। जिस चीज के लिए उसे रखा गया हो वर्तमान समय में लगभग सभी जगह मोबाइल वॉलेट का पैसा यूज हो सकता है।

 

Mobile Wallet के फायदे –

मोबाइल वॉलेट्स के कुछ निम्नलिखित फायदे के बारे में जानते हैं जैसे –

  • कहीं भी यात्रा के दौरान अगर आपका पर्स गुम हो सकता है या फिर चोरी भी हो सकता है परंतु मोबाइल वॉलेट ना तो गुम होता है और ना ही चोरी, इसमें सेव किए हुए पैसे बिल्कुल सुरक्षित रूप से रखे हुए रहते हैं।

  • मोबाइल वॉलेट में आप अपनी इच्छा के अनुसार पैसा रख सकते हैं।

  • मोबाइल वॉलेट के द्वारा आप कम समय में पैसे ट्रांसफर कर सकते हैं। वही बैंक के द्वारा पैसे ट्रांसफर करने में समय लगता है और कभी-कभी सर्वर डाउन जैसी समस्या का सामना भी करना पड़ता है।

  • मोबाइल वॉलेट से पैसे ट्रांसफर करने में किसी भी पासवर्ड या यूपीआई पिन की जरूरत नहीं पड़ती है।

  • अगर आप मोबाइल वॉलेट का उपयोग करके पैसे का ट्रांजैक्शन करते हैं तो आपको किसी भी प्रकार के चार्ज देने की जरूरत नहीं पड़ती है। वहीं अगर आप बैंक के द्वारा ट्रांजैक्शन करते हैं तो आपको जरूरत अनुसार चार्ज देना पड़ता है।

 

Mobile Wallet के नुकसान –

मोबाइल वॉलेट के कुछ नुकसान निम्नलिखित दर्शाए गए हैं –

  • मोबाइल वॉलेट को यूज करने के लिए तेज इंटरनेट की जरूरत होती है। कभी-कभी नेटवर्क प्रॉब्लम होने के कारण मोबाइल वॉलेट को आप यूज़ नहीं कर सकते।

  • मोबाइल वॉलेट से पैसे का ट्रांजैक्शन करने और डिपॉजिट करने की एक लिमिट निश्चित होती है।

  • मोबाइल वॉलेट जैसी सुविधा में केवल वही लोग एक्सपर्ट होते हैं। जो टेक्नोलॉजी फ्रेंडली होते हैं।

यहां भी जाने –
“मुख्यमंत्री सीखो कमाओ योजना” ऑनलाइन आवेदन करने की प्रक्रिया क्या है ?

 

निष्कर्ष –

दोस्तों हमें आशा है कि आप Mobile Wallet के बारे में सभी जानकारी अच्छे से जान गए होगे।

इन जानकारियों को अपने दोस्तों, परिवार के साथ जरूर शेयर करें। ताकि वे भी कुछ Mobile Wallet के बारे में जान सके और हमें Comment करके जरूर बताएं कि आपको जानकारी कैसी लगी आपके लिए यहां जानकारी कितनी उपयोगी है Comment में जरूर बताइएगा।

Thank you

 

कुछ FAQ –

  Q.1 मोबाइल वॉलेट का मतलब क्या होता है ?
  Ans. मोबाइल वॉलेट एक डिजिटल वॉलेट होता है जो यूजर्स को स्मार्टफोन्स, टेबलेट्स आदि के माध्यम से किसी भी जगह से किसी भी वक्त भुगतान करने की सुविधा प्रदान करता है। अन्य शब्दों में मोबाइल वॉलेट्स स्मार्टफोन में मौजूद एक वर्चुअल वॉलेट के रूप में होता है, जिसमें पैसे डिजिटल मनी के रूप में स्टोर किए जा सकते हैं।

  Q.2 मोबाइल वॉलेट क्यों जरूरी है ?
  Ans. कहीं भी यात्रा के दौरान अगर आपका पर्स गूम हो सकता है या फिर चोरी भी हो सकता है परंतु मोबाइल वॉलेट ना तो गुम होता है और ना ही चोरी, इसमें सेव किए हुए पैसे बिल्कुल सुरक्षित रूप से रखे हुए रहते हैं।

  Q.3 क्या हम वॉलेट से बैंक अकाउंट में पैसे ट्रांसफर कर सकते हैं ?
  Ans. मोबाइल वॉलेट के माध्यम से बैंक के अकाउंट में पैसे ट्रांसफर करना संभव है। आप किसी भी बैंक अकाउंट में वॉलेट से पैसे आराम से ट्रांसफर कर सकते हैं।

Advertisement

Leave a Comment