Drone क्या है?इसके प्रकार,उपयोग,कैसे उड़ाते है और इसमें कौन-कौन से फीचर्स होते हैं?

आज के आर्टिकल में Drone से रिलेटेड जानकारियां जानेंगे। Drone वर्तमान समय में बहुत अच्छा प्रदर्शन कर रहा है। इसमें बहुत प्रकार की विशेषताएँ देखने को मिलती है। इन विशेषताओं के कारण Drone बहुत प्रचलित है। गुजरते वक्त के साथ-साथ कुछ नई चीजें देखने को मिल रही है। हमें मतलब एक तरह से परेशानी से जूझना नहीं पड़ता हैं। Drone भी इन्हीं टेक्नोलॉजी में से एक है। जिसके बारे में हम संपूर्ण जानकारी जानने की पूरी कोशिश करेंगे। तो आइए दोस्तों बिना देर करें जानते हैं-

Advertisement

 

Drone क्या है?

सरल शब्दों में कहे तो Drone एक तरह से फ्लाइंग रोबोट होता है। जिसको रिमोट द्वारा कंट्रोल करते हैं। इसको “UAV” या “Unmanned aerial vehicles” के नाम से भी जाना जाता है। इसका खास तौर पर यूज आर्मी या फिर मिलिट्री वाले करते हैं। ड्रोन उन सभी कार्यों को करने में पूर्णतः सक्षम है जिनको मनुष्य सही तरीके से ना कर पाए मतलब की यहां उन सभी जगहों को कवर कर सकता है जहां इंसानों के बस की बात नहीं हो। विशेष रूप से इसको निगरानी करने में ही यूज किया जाता है जैसे अगर किसी क्रिमिनल अथवा शत्रु की जासूसी करनी है तो यहां इंसानों के लिए तो लगभग रिस्की कार्य हो सकता है किंतु ड्रोन बहुत ही अच्छा माध्यम है। यहां लंबे समय तक वर्क करने में तथा रियल इमेज को भेजने में माहिर होता है। यहां वैसे तो कई सारे कार्य को करने में सक्षम होता है जैसे- Photography, videography, farming, surveillance, rescue operations, entertainment purposes and search etc. इन टोटल कार्यों को यहां कम समय में बहुत ही सुगमता से व बिना थके 24 घंटे करता है। ये सभी कार्य मनुष्य के लिए थोड़े मुश्किल भरे हो सकते हैं। आजकल इस आधुनिक जमाने में तो इसका उपयोग शादियों में भी वीडियो रिकॉर्डिंग के लिए किया जाता है।

 

Drone का आविष्कार कब और किसने किया था?

यह बात सन 1849 की है जब सर्वप्रथम ड्रोन को ऑस्ट्रेलिया में डेवलप किया गया था। यहां एक तरह से Pilotless ड्रोन था। इसका यूज केवल युद्ध में सेना द्वारा किया जाता था क्योंकि इसको हवा में बम फेंकने के लिए ही डेवलप किया जिस वजह से यहां युद्ध में बहुत ही उपयोगी साबित हुआ फिर इसके पश्चात सन 1915 में “nikola tesla” नामक महान वैज्ञानिक ने jet fighter (लड़ाकू विमान) बनाया जो बिल्कुल unmanned यानी कि मानव रहित था। इसमें कैमरे के फीचर्स के साथ-साथ कई तरह के नए फीचर्स ऐड किये। इसके कुछ समय बाद सन 1987 में कृषि कार्यों के लिए भी ड्रोन को डेवलप किया गया फिर जैसे-जैसे समय बीतता गया वैसे-वैसे ड्रोन को Media, Oceanography, Police, Film Production, Video Recording इत्यादि फील्ड में यूज किया जाने लगा।

 

Drone कितने प्रकार के होते है?

ड्रोन के वैसे तो कई सारे प्रकार होते हैं किंतु कुछ विशेष प्रकारों के बारे में नीचे जानकारी दी गई है चलिए विस्तार से जानते हैं-

1. Single Rotor Drones-

इस टाइप के ड्रोन साइज में छोटे होते हैं और इनमें मात्र single rotor ही स्थित होते है। इनमें ज्यादा समय तक उड़ने की कैपेसिटी नहीं होती है केवल सीमित समय के लिए ही यूज कर सकते हैं किंतु खास बात यहां है कि इसमें गैस और इलेक्ट्रिसिटी दोनों मददगार होती है मतलब दोनों टाइप के ईंधन इसके लिए उपयोगी होते हैं।

2. Multi Rotor Drones-

इस टाइप के ड्रोन का यूज बहुत ज्यादा होता है और इनको वैसे प्रोफेशनल वर्क में ज्यादातर इस्तेमाल किया जाता है। इसमें कई सारे रोटर्स लगे हुए होते हैं जिस वजह से यहां बैलेंस बनाए रखने में भी पूर्णतः सक्षम होता है।

3. Fixed Wing Drones-

Fixed Wing Drones बहुत ही यूनिक होते हैं। इनकी उड़ान भरने की कैपेसिटी मैक्सिमम 16 घंटे से भी अधिक होती है। जिस वजह से इनको लंबी दूरी के ऑपरेशन में उपयोग किया जाता है। इनकी कीमत बहुत ही एक्सपेंसिव होती है तथा इनको उड़ाने के लिए भी हाई स्किल ट्रेनिंग चाहिए होती है। इनमें नॉर्मल एरोप्लेन के जैसे ही wings का यूज होता है।

4. Fixed Wing Hybrid Drones-

इस टाइप के ड्रोन बहुत ही यूनिक होते हैं इनमें दोनों साइड wings का यूज होता है। इस वजह से यह बिल्कुल प्लेन के जैसे ही लगते हैं किंतु इनमें stability (स्थिरता) जैसी कैपेसिटी की कमी महसूस होती है।

 

Drone में कौन-कौन से फीचर्स होते हैं?

दोस्तों ड्रोन में कई टाइप के फीचर्स अवेलेबल होते हैं लेकिन कुछ विशेष फीचर्स के बारे में हम निम्नलिखित माध्यम से जानते हैं-

• ड्रोन में आपको कनेक्टिविटी का फीचर मिलता है जिसके माध्यम से आप स्मार्टफोन या टैबलेट के द्वारा भी इसको कंट्रोल कर सकते हैं। वैसे तो इसको रिमोट के द्वारा भी कंट्रोल किया जा सकता है।
• ड्रोन में विशेष रूप से कैमरे की बहुत ही अच्छी सुविधा मिलती है। जिसके माध्यम से कई सारे कार्य किए जा सकते हैं साथ में सर्च या फिर रेस्क्यू ऑपरेशन में तो इसका बहुत ज्यादा ही यूज होता है।
• Air Vacuum जैसी फैसिलिटी से ड्रोन जमीन में नहीं धस्ता है।
• Accelerometer & Altimeter यह दोनों ड्रोन में बहुत ही अहम भूमिका निभाते हैं। Accelerometer के द्वारा ड्रोन की स्पीड व सही डायरेक्शन से रिलेटेड इनफार्मेशन को बताता है तो वही Altimeter ड्रोन की ऊंचाई व स्थिर रहने वाली दिशा के बारे में जानकारियां प्रदान करता है।

Drone कैसे उड़ाते है?

दोस्तों ड्रोन को उड़ने के लिए किसी भी विशेष नॉलेज की जरूरत नहीं है। बस आपको केवल सीखने की जरूरत है और इसके बाद आप बड़ी ही सिंपली ड्रोन को उड़ाना सीख जाएंगे नीचे कुछ स्टेप्स दी गई है। जिनको अवश्य फॉलो करें।

Step 1. दोस्तों यहां बात बहुत ही महत्वपूर्ण है सर्वप्रथम आपको ड्रोन को ऑन करना होगा। फिर ड्रोन को एंटीने की सही डायरेक्शन में रख देना है।

Step 2. यहां पर एक बात और ध्यान रखने की है कि ड्रोन बिल्कुल बराबर बैलेंस वाली जगह पर ही रखा होना चाहिए। अब आपको रिमोट के एंटीनो को खोलना है।

Step 3. मैक्सिमम यही देखा जाता है कि रिमोट में दो Joystick ही होते हैं। प्रथम वाला उड़ानें व नीचे उतारने के लिए होता है तो दूसरा वाला आगे-पीछे अथवा दाएं-बाएं ड्रोन को ले जाने के लिए मदद करता है।

Step 4. यहां पर रिमोट कंट्रोल में आपको Joystick के अतिरिक्त कुछ एक्स्ट्रा बटंस भी मिलती है। जो Emergency Stop, Fast Speed, Photo Click इन सभी कार्यों में हेल्पफुल होती है।

Step 5. ड्रोन को बेहतर तरीके से उड़ाने के लिए आप पहले किसी खाली मैदान में अच्छी प्रैक्टिस कर सकते हैं।

 

Drone के उपयोग क्या-क्या है?

ड्रोन आजकल बहुत से कार्यों में यूज होता है। नीचे कुछ महत्वपूर्ण जानकारी दी गई है चलिए जानते हैं-

• ड्रोन का खासकर उपयोग आर्मी में निगरानी के लिए होता है।
• आजकल शादियों में भी ड्रोन का यूज शूटिंग के लिए किया जाता है।
• कृषि क्षेत्रों में भी ड्रोन का उपयोग आज के टाइम पर किया जा रहा हैं। ड्रोन किसानों को फसल की निगरानी व खाद, दवा छिड़काव के लिए बहुत काम आता है।
• आज आधुनिक जमाने में ड्रोन की मदद से सर्च ऑपरेशन या फिर रेस्क्यू ऑपरेशन सफल किए जाते हैं।
• रेलवे क्षेत्रों में ट्रैक मेंटेनेंस, चेकिंग इत्यादि जैसे कार्यों में ड्रोन बहुत ही बेहतर प्रदर्शन करता हैं।

➤ यहां भी जानें- Google Wallet क्या है? इसके फीचर्स कौन-कौन से हैं? हिंदी में-

Computer Font क्या है? कैसे डाउनलोड करे, कैसे इंस्टॉल करे और लाभ क्या है?

 

सारांश-

दोस्तों इस आर्टिकल की मदद से आप जान गए होंगे कि Drone क्या है? आशा करता हूं कि आपको सभी जानकारी पसंद जरूर आई होगी। इन सभी जानकारियों को अपने Friends, Family के साथ जरूर शेयर करें और आपका अगर कोई सा भी कन्फ्यूजन हो तो Comment करके निसंकोच पूछ सकते हैं।
Thank you

 

कुछ FAQ-

Q.1 Drone का काम क्या होता है?
Ans. Drone एक तरह से फ्लाइंग रोबोट होता है। जिसको रिमोट द्वारा कंट्रोल करते हैं। इसको “UAV” या “Unmanned aerial vehicles” के नाम से भी जाना जाता है। इसका खास तौर पर यूज आर्मी या फिर मिलिट्री वाले करते हैं। ड्रोन उन सभी कार्यों को करने में पूर्णतः सक्षम है जिनको मनुष्य सही तरीके से ना कर पाए। आजकल इस आधुनिक जमाने में तो इसका उपयोग शादियों में भी वीडियो रिकॉर्डिंग के लिए भी किया जाता है।

Q.2 Drone का आविष्कार किसने किया?
Ans. सन 1915 में “nikola tesla” नामक महान वैज्ञानिक ने jet fighter (लड़ाकू विमान) बनाया जो बिल्कुल unmanned यानी की मानव रहित था। इसमें कैमरे के फीचर्स के साथ-साथ कई तरह के नए फीचर्स ऐड किये।

Advertisement

Leave a Comment