ATM क्या है? अगर आप ATM का यूज़ करते है तो सावधनियां जरूर बर्ते।

आज के आर्टिकल में हम ATM से रिलेटेड कुछ जानकारियां जानेंगे। आखिर ATM क्या है, इसके आविष्कारक कौन हैं, इसके उपयोग क्या है, इसके फायदे क्या है? सभी जानकारियां इस आर्टिकल की मदद से आसान शब्दों में जानने की कोशिश करेंगे। तो आइए दोस्तों बिना वक्त गंवाए नीचे विस्तार से जानते हैं-

 

ATM क्या है?

ATM जिसका फुल फॉर्म “Automatic Teller Machine” होता है। यहां एक तरह से बैंकिंग मशीन होती है और इसमें एक प्लास्टिक कार्ड की आवश्यकता होती है। जिसको एटीएम कार्ड कहा जाता है। एटीएम कार्ड का इस्तेमाल बैंक अकाउंट होल्डर्स पैसे निकालने, बैलेंस चेक करने के लिए एटीएम मशीन में यूज करते हैं। एटीएम कार्ड को बैंक द्वारा यूजर्स को प्रोवाइड किया जाता है। आज के मॉर्डन जमाने में एटीएम कार्ड का उपयोग बहुत ही ट्रेंड में चल रहा है।


आइये दोस्तों अब हम नीचे ATM Machine के आविष्कारक के बारे में जानकारियां जानते हैं-

 

ATM Machine के आविष्कारक कौन हैं?

ATM Machine का आविष्कार करने वाले व्यक्ति ”John Shepherd” है। और ये ब्रिटिश के नागरिक हैं। एटीएम मशीन का आविष्कार करने में इनकी टीम ने भी इनका बड़ा सपोर्ट किया था। सर्वप्रथम एटीएम को लॉन्च England के North London में 27 जून 1967 को किया था। India में सर्वप्रथम मुंबई में सन् 1986 में HSBC ( Hong Kong and Shanghai Banking Corporation) बैंक ने अपनी खुद की ब्रांच में एटीएम मशीन को स्थापित किया था।

 

ATM के उपयोग क्या है?

आज के जमाने में लगभग सभी जगह एटीएम मशीन की सुविधा उपलब्ध होती है। एटीएम मशीन के उपयोग क्या है तो इसके बारे में हम निम्न माध्यम से जानेंगे-

• Cash Withdrawal – एटीएम कार्ड को एटीएम मशीन में डालकर आप कुछ समय में अपने बैंक अकाउंट में से पैसे निकाल सकते हैं।

• Deposit – एटीएम की मदद से आप अपने बैंक अकाउंट में पैसे को डिपॉजिट कर सकते हैं।

• Transfer – एटीएम की मदद से आप पैसे को एक जगह से दूसरी जगह सरलता से ट्रांसफर भी कर सकते हैं।

• Check Balance – आप एटीएम के उपयोग से अपने बैंक अकाउंट के बैलेंस को चेक कर सकते हैं।

 

ATM की मदद से पैसे किस प्रकार निकाले जाते हैं?

एटीएम की मदद से पैसे निकालना बहुत आसान है। कोई भी नया व्यक्ति आराम से सीख सकता है। कुछ सिंपल स्टेप्स होती है। आइये जिनके बारे में विस्तार से जानकारियां प्राप्त करते हैं-

1. सर्वप्रथम आपको एटीएम मशीन में अपना एटीएम कार्ड सही तरीके से डालना है। जब एटीएम कार्ड सेट हो जाएगा तब एटीएम मशीन कुछ आगे की प्रोसेस की सूचना देंगी।
2. अब एटीएम मशीन की स्क्रीन पर आपको दो ऑप्शन देखने को मिलेंगे। जिसमें से एक English और दूसरा हिंदी इन दोनों में से एक विकल्प को चुनना है।
3. इसके बाद आपको Enter Pin का ऑप्शन देखने को मिलेगा। उस पर क्लिक करके अपना पिन नंबर दर्ज कर दे।
4. फिर आपको दो तरह के ऑप्शन देखने को मिलेंगे जिनमें से एक ऑप्शन को चुनना है। जैसे- Saving Account और Current Account इन दोनों ऑप्शन में से आपका जो भी अकाउंट जिस टाइप का है। उस ऑप्शन पर क्लिक करना है।
5. अब आपके सामने आठ प्रकार के ऑप्शंस आएंगे। जैसे- Fast Cash, Withdrawal, Balance Inquiry, Mini Statement, Fund Transfer, Pin Change Deposit, Other Requests इनमें से किसी भी विकल्प को चुनकर आप हेल्प ले सकते हैं।
6. अगर आपको पैसे निकालना है तो Withdrawal वाले विकल्प को चुनकर राशि दर्ज करके ok पर क्लिक कर दीजिए। आपको पैसे आपके बैंक अकाउंट में से तुरंत प्राप्त हो जाएंगे।

 

ATM से फायदे कौन-कौन से है?

एटीएम के उपयोग से जो फायदे होते हैं। उनके बारे में कुछ जानकारियां इस प्रकार है-

🔵 एटीएम की सुविधाएं हर समय तत्पर रहती है।

🔵 एटीएम की मदद से बिना बैंक जाए आप कुछ समय में पैसे निकाल सकते हैं। इस प्रकार आपके समय की भी बचत होती है।

🔵 एटीएम के उपयोग से आपकी सभी बैंक संबंधी जानकारियां Safe रहती है।

🔵 एटीएम की फैसिलिटी हर स्थान पर उपलब्ध होती है। जैसे- Shopping malls, Convenience stores और Airports इत्यादि।

 

अगर आप ATM का यूज़ करते है तो सावधनियां जरूर बर्ते।

आप एटीएम का उपयोग करते हैं तो आपको कुछ विशेष बातों का जरूर ध्यान रखना होगा नहीं तो आप भारी नुकसान उठा सकते हैं जैसे-

1. अपने एटीएम पिन नंबर को किसी भी व्यक्ति के साथ साझा न करें।
2. आप जब कभी भी एटीएम मशीन में एटीएम कार्ड, पिन नंबर इत्यादि डालकर पैसे निकालते हैं तब अपने चारों ओर जरूर ध्यान दें कि कोई आप पर निगरानी तो नहीं रख रहा है।
3. एटीएम से पैसे निकालने के बाद अपना एटीएम कार्ड एटीएम मशीन से निकालकर संभाल कर रख ले।
4. आप जिस भी बैंक का उपयोग करते हैं। उस बैंक में अपने बैंक खाते से मोबाइल नंबर को लिंक करवाना ना भूले।
5. किसी परिस्थिति में अगर आपका एटीएम कार्ड चोरी हो जाता है, गुम जाता है तो आप अपने बैंक में सभी इनफॉरमेशन देकर अपना एटीएम कार्ड ब्लॉक करवा सकते हैं।
6. यदि आपने एटीएम कार्ड का उपयोग कर लिया है तो एटीएम मशीन में Cancel की बटन पर क्लिक करना ना भूले।
7. यदि आपके पास कोई unknown नंबर से कॉल आती है और आपके एटीएम संबंधित जानकारियां जानने का प्रस्ताव रखते हैं तो यह सब बिल्कुल भी ना करें। किसी भी व्यक्ति चाहे वहां आपका परिवार का हीं सदस्य क्यों ना हो अपनी एटीएम कार्ड से संबंधित जानकारियां शेयर ना करें।
8. किसी व्यक्ति को अगर आपका एटीएम पिन नंबर पता चल जाता है तो तुरंत पिन नंबर बदल दे।

➤ यह भी जानें-

Smart Card क्या है? यह किस काम आएगा, कैसे बनेगा। इसके लाभ और हानि बताये।

Electronic Payment System क्या है? पूरा जाने।

 

हमने क्या सीखा?

आज हमने इस लेख में सीखा कि ATM क्या है तथा इसका महत्व हमें उम्मीद है कि यह लेख आपके लिए उपयोगी साबित हुआ है। आशा करता हूं कि आपको सभी जानकारियां पसंद जरूर आई होगी। इन सभी जानकारियों को अपने Friends, Family के साथ जरूर शेयर करें और आपका अगर कोई सा भी कन्फ्यूजन हो तो Comment करके निसंकोच पूछ सकते हैं।
“Thanks”

 

कुछ FAQ-

Q.1 ATM का मतलब क्या होता है?
Ans. ATM जिसका फुल फॉर्म “Automatic Teller Machine” होता है। यहां एक तरह से बैंकिंग मशीन होती है और इसमें एक प्लास्टिक कार्ड की आवश्यकता होती है। जिसको एटीएम कार्ड कहा जाता है। एटीएम कार्ड का इस्तेमाल बैंक अकाउंट होल्डर्स पैसे निकालने, बैलेंस चेक करने के लिए एटीएम मशीन में यूज करते हैं।

Q.2 ATM का दूसरा नाम क्या है?
Ans. ATM का दूसरा नाम “Automatic Teller Machine” होता है।

Q.3 ATM के संस्थापक कौन है?
Ans. ATM के संस्थापक John Shepherd है और ये ब्रिटिश के नागरिक हैं। एटीएम मशीन का आविष्कार करने में इनकी टीम ने भी इनका बड़ा सपोर्ट किया था।

 

Leave a Comment