PGDCA कोर्स क्या है? इसे करने के फायदे, योग्यता और इसका सिलेबस क्या है?

Computer एक ऐसा उपकरण है। जिस की उपयोगिता निरंतर तेजी से बढ़ती जा रही है। दोस्तों आपको ज्ञात होगा कि आज के समय में Computer बहुत-से क्षेत्रों में इस्तेमाल होता है जैसे-Bank Work, Online Work, Online Study, Editing etc.
Computer से आपके बहुत मुश्किल कार्य बड़ी ही सरलता के साथ कम समय में पूरे हो जाते हैं। Computer लगभग सभी के लिए बहुत महत्व रखता है किंतु कुछ ऐसे भी लोग आज के जमाने में होते हैं जिनको Computer की बेसिक इनफार्मेशन मालूम नहीं है या जो जॉब की तलाश करने में जुटे हैं तो उनके लिए आज यहां आर्टिकल महत्वपूर्ण होने वाला है। उनकी कुछ हद तक समस्या कम हो सकती है। आज के आर्टिकल में हम PGDCA कोर्स के बारे में जानकारियां जानने कि कोशिश करेंगे तो चलिए दोस्तों समय का ध्यान रखते हुए महत्वपूर्ण विषय के बारे जानकारियां जानते हैं-

Advertisement

 

PGDCA क्या है?

PGDCA मुख्य रूप से एक कंप्यूटर कोर्स होता है जितने भी आज की जनरेशन के स्टूडेंट है। वे ज्यादातर कंप्यूटर वर्क में दिलचस्पी रखते हैं मतलब उन्हें कंप्यूटर पर वर्क करना बड़ा अच्छा लगता है तो एक ऐसा ही कोर्स है। जो बिल्कुल कंप्यूटर के माध्यम से ही कंप्लीट होता है। दोस्तों आपको पता है कि आजकल कंप्यूटर कर्मी की डिमांड काफी ट्रेंडिंग पर चल रही है इसलिए अगर आप भी यहां कोर्स कंप्लीट करके एक अच्छी नौकरी पाना चाहते हैं तो आप आराम से इस कोर्स को किसी भी प्लेटफार्म से कर सकते हैं। ध्यान देने वाली बात यह है कि स्टूडेंट इस कोर्स को ग्रेजुएशन के पश्चात ही कर सकते हैं। PGDCA कोर्स की अवधि केवल एक वर्ष की होती है। जिसमें स्टूडेंट को कंप्यूटर साइंस तथा कई विशेष कंप्यूटर एप्लीकेशन से संबंधित प्रैक्टिकल व थ्योरिकल दोनों टाइप के हाय नॉलेज प्रोवाइड किये जाते है। हाय नॉलेज में स्टूडेंट को जैसे- कंप्यूटर प्रोग्रामिंग डाटाबेस मैनेजमेंट, सिस्टम विश्लेषण, वेब डेवलपमेंट या वेब डिजाइनिंग , कंप्यूटर नेटवर्किंग, सॉफ्टवेयर इंजीनियरिंग, कंप्यूटर सिक्योरिटी, HTML, C++ और C इत्यादि जैसे महत्वपूर्ण सब्जेक्ट के बारे में नॉलेज प्रदान किया जाता है। इस कोर्स को दो भागों में डिवाइड किया जाता है। पहले 6 महीने की थ्योरी उसके बाद 6 महीने प्रैक्टिकल पर फोकस किया जाता है। जिससे स्टूडेंट बेहतर से बेहतर नॉलेज हासिल कर सके। 1 वर्ष के डिप्लोमा कोर्स को करने के बाद आपको सर्टिफिकेट मिल जाता है। यह सर्टिफिकेट को आप प्राइवेट या गवर्नमेंट फील्ड में नौकरी में काम आता है।

 

PGDCA Full Form क्या है?

PGDCA का फुल फॉर्म “Post Graduate Diploma In Computer Application” होता है। इसको हिंदी में “पोस्ट ग्रेजुएशन डिप्लोमा इन कंप्यूटर एप्लीकेशन” कहा जाता है।

 

PGDCA कोर्स के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए?

दोस्तों PGDCA कोर्स को करने के लिए आप में योग्यता की जरूरत होती है चलिए हम इसके बारे में विस्तार से बात करते हैं-

• PGDCA कोर्स को करने के लिए स्टूडेंट को ग्रेजुएशन पूरा करना जरूरी होता है। इसके पश्चात ही स्टूडेंट स्कोर्स को चुन सकते हैं।
• स्टूडेंट के ग्रेजुएशन में कम से कम 50% या उससे ऊपर अंक जरूर होना चाहिए।
• गवर्नमेंट यूनिवर्सिटी में अंक के माध्यम से ही एडमिशन मिलता है किंतु प्राइवेट यूनिवर्सिटी में अंक को महत्व नहीं दिया जाता है। प्राइवेट यूनिवर्सिटी में केवल थोड़ी अधिक फीस देनी पड़ती है।
• स्टूडेंट अगर PGDCA कोर्स को करने में रुचि रखते हैं तो उनके लिए भारत के किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से स्नातक पास होना बहुत ही जरूरी होता है।

 

PGDCA कोर्स को करने के फायदे क्या है?

PGDCA कोर्स को करने में स्टूडेंट का अगर मन है तो उनको बहुत प्रकार से प्रॉफिट होने वाला है चलिए निम्न माध्यम से कुछ विशेष जानकारी जानते हैं-

1. PGDCA कोर्स को करने के बाद छात्रों को एक उच्च कोटि का डिप्लोमा सर्टिफिकेट हासिल हो सकता है। आपको पता है कि यहां सर्टिफिकेट नौकरी के लिए बहुत मायने रखता है।

2. PGDCA कोर्स कंप्लीट होने के बाद स्टूडेंट को जॉब का ऑफर मिल सकता है।

3. PGDCA कोर्स को पूरा करने के पश्चात आप स्वयं का एक बिज़नेस खड़ा कर सकते हैं। उदाहरण के तौर पर cyber cafe, computer shop and mobile shop etc.

4. PGDCA कोर्स पूरा होने के बाद MCA अथवा MBA इन उच्च कोटि के कोर्स में सीधे तौर पर एडमिशन मिल सकता है।

5. PGDCA कोर्स के माध्यम से आपको कंप्यूटर की छोटे से लेकर बड़ी-बड़ी हाई लेवल की जानकारियां प्राप्त हो सकते हैं।

6. इस कोर्स को पूरा करने के बाद आप कंप्यूटर इंजिनियर, प्रोग्रामर, डाटा एन्ट्री ऑपरेटर, जावा डेवलपर इत्यादि नौकरी में अप्लाई कर सकते हैं।

 

PGDCA कोर्स सिलेबस-

PGDCA कोर्स 1 साल के लिए होता है और इसमें दो टाइप से सेमेस्टर स्टूडेंट के होते हैं। दोनों सेमेस्टर की जानकारी नीचे विस्तार से दी गई है आगे जानते हैं-

First semester
• Basics of Information Technology
• C programming
• soft skills
• Data Structures and Algorithms
• Principles and practices of management and organizational conduct.
• practical

Second semester
• Visual Basics
• Basic Java
• database management system
• Software Engineering and Business Process
• Oracle
• Web Designing
• practical

 

PGDCA कोर्स में कितने सब्जेक्ट होते हैं?

PGDCA कोर्स मैं जितने भी टोटल सब्जेक्ट होते हैं उनके बारे में निम्नलिखित जानकारियां दी गई है चलिए जानते हैं-

• C programming
• Computer Fundamentals
• Database Management System
• computer security
• Web Development
• Operating System
• software engineering
• Algorithms and data structures
• Computer System Analysis and Design
• Data Science
• machine learning
• Computer networking
• Programming language
• Computational theory
• artificial Intelligence
• big data

 

PGDCA कोर्स करने के लिए आवेदन प्रोसेस-

दोस्तों अगर आप का भी विचार है PGDCA कोर्स करने का तो आप भी ग्रेजुएशन के बाद इसमें एप्लीकेशन कर सकते हैं। जिसके लिए आपको नीचे कुछ स्टेप दी गई है जिन्हें अवश्य फॉलो करें।

1. सर्वप्रथम स्टूडेंट को आधिकारिक वेब साइट iisdt.in पर विजिट करना होगा।
2. जब होम पेज ओपन हो जाएगा तब मेनू में “कोर्स” का ऑप्शन दिखने लग जाएगा उसको क्लिक करना है।
3. इस प्रक्रिया के बाद एक न्यू पेज ओपन होगा जिसमें आपको कई टाइप के कोर्स नजर आएंगे उनमें से आपको PGDCA कोर्स ढूंढना है और उस पर क्लिक भी करना है।
4. अगले पेज में आपको एक “Enroll Now” ऑप्शन मिलेगा जिस पर क्लिक करना है। क्लिक करने के पश्चात एप्लीकेशन फॉर्म ओपन हो जाएगा।
5. एप्लीकेशन फॉर्म में जितनी भी इंपॉर्टेंट जानकारी मांगी गई है उनको दर्ज कर दीजिए।
6. इन सभी प्रक्रिया को करने के बाद आपका PGDCA कोर्स में एप्लीकेशन फॉर्म कंप्लीट हो जाएगा।

 

PGDCA कोर्स के एडमिशन में किन-किन डॉक्यूमेंट के जरूरत पड़ती है?

PGDCA कोर्स में एडमिशन प्राप्त करने के लिए स्टूडेंट को कुछ डॉक्यूमेंट की आवश्यकता पड़ती है जिन्हें निम्न माध्यम से जानते हैं-

• Bachelor Degree
• Aadhar Card or PAN Card
• Graduation mark sheet
• Two passport-size photographs
• Birth certificate

➤ यहां भी जानें- Tally क्या है?इसे कैसे सीखे,इसके फायदे,अच्छा करियर,विषय और खर्चा।

 

सारांश-

दोस्तों इस आर्टिकल की मदद से आप जान गए होंगे कि PGDCA कोर्स क्या हैं? आशा करता हूं कि आपको सभी जानकारी पसंद जरूर आई होगी। इन सभी जानकारियों को अपने Friends, Family के साथ जरूर शेयर करें और आपका अगर कोई सा भी कन्फ्यूजन हो तो Comment करके निसंकोच पूछ सकते हैं।
Thank you

 

कुछ FAQ-

Q.1 PGDCA कोर्स करने से क्या होता है?
Ans. PGDCA कोर्स को करने के बाद छात्रों को एक उच्च कोटि का डिप्लोमा सर्टिफिकेट हासिल हो सकता है। आपको पता है कि यहां सर्टिफिकेट नौकरी के लिए बहुत मायने रखता है

Q.2 PGDCA कोर्स के लिए स्टूडेंट में क्या योग्यता होनी चाहिए?
Ans. PGDCA कोर्स को करने के लिए स्टूडेंट को ग्रेजुएशन पूरा करना जरूरी होता है। इसके पश्चात ही स्टूडेंट स्कोर्स को चुन सकते हैं।

 

Advertisement

Leave a Comment