Dongle क्या है? इसके प्रकार, उपयोग और उपयोग से फायदे बताये हिंदी में-

हेलो फ्रेंड्स आज निरंतर हर जगह परिवर्तन देखने को मिल रहा है चाहे वहां कोई सी भी फील्ड क्यों ना हो आज हर कार्य पॉसिबल हो चुका है। मानव के जरूरत की चीजें हरदम हर पल मौजूद रहती है और उनका यूज करना बहुत ही सिंपल है। आज हम कंप्यूटर से रिलेटेड एक महत्वपूर्ण टॉपिक के बारे में इंफॉर्मेशन हासिल करेंगे। जिसको Dongle कहां जाता है। इसको देखकर आपके मन में प्रश्न जरूर आया होगा कि आखिर यहां Dongle क्या होता है? किस कार्य में इस्तेमाल होती हैं तो इसके बारे में हम नीचे विस्तार से जानेंगे चलिए बिना वक्त गंवाएं ओर अधिक सीखते हैं-

Advertisement

 

Dongle क्या है?

Dongle एक यूएसबी ड्राइव जैसी होती है। इसको कंप्यूटर या फिर लैपटॉप में सॉफ्टवेयर की हेल्प से रन कराया जाता है। इसे डोंगल में आप सिम पुट करके या Wi-Fi द्वारा इंटरनेट का आनंद ले सकते हैं। डोंगल को Modem नाम से भी जाना जाता है। जिसका पूरा फुल फॉर्म
Modulator-Demodulator होता है इसके अलावा इसको इंटरनेट डोंगल, यूएसबी मॉडेम डोंगल, इंटरनेट स्टिक इन नाम से भी पहचाना जाता है। पेन ड्राइव की तुलना में इसका साइज बड़ा होता है। यहां कंप्यूटर, लैपटॉप और डोंगल सपोर्ट टैबलेट में भी उपयोग होती है। आज के टाइम में डोंगल का उपयोग बहुत ही उचित माना जाता है क्योंकि यहां हाई लेवल सिक्योरिटी प्रोवाइड करती हैं साथ में इसको एक स्थान से दूसरे स्थान पर ले जाना बहुत ही सिंपल है। इसको डिवाइस में यूएसबी पोर्ट में अटैच किया जाता है और फिर सॉफ्टवेयर की हेल्प से कनेक्ट किया जाता हैं। कई प्रकार के डोंगल ऐसी होती हैं जो कंपनी की सिम से चलती है और किसी में, कोई सी भी सिम लगा सकते हैं और इंटरनेट चला सकते हैं।

 

Dongle के प्रकार क्या-क्या है?

डोंगल के दो टाइप होते हैं।
1. Internet Dongle
2. Wi-Fi Dongle
चलिए इनके बारे में नीचे विस्तार से जानते हैं-

1. Internet Dongle:-

इस टाइप की डोंगल विभिन्न कंपनियों द्वारा निर्मित होती है इनमें केवल उसी सिम का यूज होता है। जिस सर्विस प्रोवाइडर का डोंगल होता है मतलब आपने VI का डोंगल परचेस किया है तो उसमें VI की सिम को यूज कर सकते हैं इसके अलावा किसी भी सिम को अटैच करना नामुमकिन है। वहीं दूसरे डोंगल में कोई सी भी सिम को डालकर इंटरनेट ले सकते हैं। आपके पास कंपनी के डोंगल को अनलॉक करने का भी ऑप्शन रहता है आप चाहे तो यह भी कर सकते हैं। मतलब अनलॉक करने के बाद आप कोई सी भी सिम पुट करके इंटरनेट का आनंद ले सकते हैं।

2. Wi-Fi Dongle:-

इन डोंगल में वाई-फाई की हेल्प लेनी पड़ती है। इनको एक बार चार्ज करने के बाद इसको किसी भी जगह पर रख दो। इसके पश्चात आप वाई-फाई डोंगल की मदद से इंटरनेट एक्सेस कर सकते हैं। इसकी विशेषता यहां भी होती है कि हम अगर मोबाइल, कंप्यूटर लैपटॉप, टैबलेट इत्यादि इन सभी डिवाइस को डोंगल से एक ही समय में एक साथ कनेक्ट कर सकते हैं।

 

Dongle को लैपटॉप/कंप्यूटर पर कैसे उपयोग कर सकते हैं?

डोंगल को लैपटॉप/कंप्यूटर में यूज करना बहुत ही आसान है आपको कुछ स्टेप नीचे दी गई है। जिनको ध्यानपूर्वक फॉलो करें आप भी फर्स्ट टाइम डोंगल को लैपटॉप से कनेक्ट करके आसानी से सीख सकते हैं। चलिए स्टेप बाय स्टेप जानते हैं-

 

सिम वाले डोंगल के बारे में जानकारियां-

• दोस्तों आपको सबसे पहले डोंगल को अपने लैपटॉप के यूएसबी पोर्ट में पुट करना है।
• इसके बाद स्क्रीन पर सॉफ्टवेयर रन का विकल्प आएगा।
(Note: अगर सॉफ्टवेयर रन का विकल्प नहीं आता है तो दोस्तों आपको “My Computer” में जाना होगा और वहां पर डोंगल के आइकॉन पर क्लिक करना है इसके बाद सॉफ्टवेयर को रन करना है।)
• सॉफ्टवेयर इंस्टॉल होने के बाद सॉफ्टवेयर का आइकॉन डेस्कटॉप पर आ जाएगा।
• सॉफ्टवेयर को ओपन कर लीजिए और कनेक्ट बटन पर क्लिक कर दीजिए। जैसे ही कनेक्ट कंप्लीट होगा इंटरनेट चलना शुरू हो जाएगा।

 

वाई-फाई डोंगल के बारे में जानकारियां-

• दोस्तों आपको पहले वाई-फाई डोंगल ऑन कर देना है।
• जब वाई-फाई डोंगल ऑन हो जाएगा तब अपने लैपटॉप में वाई-फाई के ऑप्शन पर जाए।
• वाई-फाई के ऑप्शन में आपको डोंगल का वाईफाई नेटवर्क सर्च करना है और कनेक्ट पर क्लिक करना है।
• पासवर्ड की जरूरत होती है तो आवश्यक पासवर्ड को दर्ज करके Ok कर दे।
• इन कुछ आसान स्टेप के द्वारा आप वाई-फाई डोंगल को कनेक्ट कर सकते हैं और इंटरनेट का भरपूर आनंद ले सकते हैं।

 

Dongle के उपयोग से क्या-क्या फायदे होते हैं?

Dongle के उपयोग से बहुत प्रकार के फायदे होते हैं चलिए निम्न माध्यम से कुछ विशेष जानकारियां जानते हैं-

• डोंगल का साइज बहुत ही स्मॉल होता है। जिस वजह से इसको एक जगह से दूसरी जगह ले जाना बहुत ही आसान है।

• इंटरनेट डोंगल वायरलेस होने की वजह से हमें किसी भी स्थान पर इंटरनेट एक्सेस करने में कोई भी प्रॉब्लम नहीं होती है। ना ही किसी यूएसबी केबल की जरूरत पड़ती है।

• डोंगल में डाटा ज्यादा ही सिक्योर्ड होता है इसमें ना ही हैकिंग की प्रॉब्लम ना डाटा चोरी होने की प्रॉब्लम होती है क्योंकि यहां आपके कंप्यूटर से डायरेक्ट कनेक्ट होती है।

➤ यहां भी जानें- PGDCA कोर्स क्या है? इसे करने के फायदे, योग्यता और इसका सिलेबस क्या है?

 

निष्कर्ष-

दोस्तों हमें आशा है कि आप Dongle क्या होता है? इसके बारे में सभी जानकारी अच्छे से जान गए होगे। इन जानकारियों को अपने दोस्तों,परिवार के साथ जरूर शेयर करें। ताकि वे भी कुछ Dongle के बारे में जान सके। और हमें Comment करके जरूर बताएं कि आपको जानकारी कैसी लगी आपके लिए यहां जानकारी कितनी उपयोगी है Comment में जरूर बताइएगा।
Thank you

 

कुछ FAQ-

Q.1 Dongle क्या काम करता है?
Ans. Dongle एक यूएसबी ड्राइव जैसी होती है। इसको कंप्यूटर या फिर लैपटॉप में सॉफ्टवेयर की हेल्प से रन कराया जाता है। इसे डोंगल में आप सिम पुट करके या Wi-Fi द्वारा इंटरनेट का आनंद ले सकते हैं।

Q.2 Dongle की कीमत कितनी होती है?
Ans. Dongle की कीमत लगभग ₹699 से लेकर ₹1,499 तक हो सकती है।

 

Advertisement

Leave a Comment