अयोध्या में शुरू हुआ एक करोड़ का भंडारा – करीब 50 लोग रोटियां बना रहे हैं।

दोस्तों 22 जनवरी सोमवार के दिन प्राण प्रतिष्ठा का कार्यक्रम पूर्ण होने जा रहा है और इस पावन बेला में अयोध्या नगरी में कई सारे राम भक्त इस प्राण प्रतिष्ठा के समारोह का आनंद लेने आ रहे हैं। जिसके चलते कई सारी व्यवस्थाओं को पूर्ण रूप से सभी राम भक्त निभा रहे हैं और सभी का यही उद्देश्य है कि 22 जनवरी को किसी भी राम भक्तों को कोई दिक्कत परेशानी बिल्कुल भी ना हो। 22 तारीख को राम भक्त भारी संख्या में अयोध्या पहुंचेंगे पर उससे पहले एक बहुत ही अद्भुत खबर सामने आ रही है कि सभी राम भक्त के लिए अयोध्या में पहले से ही खाने पीने का बंदोबस्त हो चुका है। मतलब की अयोध्या में एक ऐसा विशाल भंडारा कई गुजरे हुए दिनों से निरंतर चलता हुआ आ रहा है अगर दोस्तों आप भी अयोध्या जा रहे हैं तो बिल्कुल निश्चिंत होकर ही जाए अयोध्या नगरी में बहुत ही विशाल भंडारा बाबा उमाकांत महाराज उज्जैन वालों की तरफ से चल रहा है। चलिए ओर अधिक जानकारी हम निम्न माध्यम से जानते हैं।

Advertisement

 

अयोध्या में शुरू हुआ एक करोड़ का भंडारा

भंडारे में जो भट्टी का इस्तेमाल किया गया है वह बहुत ही विचित्र है उसको दोनों तरफ से जलाया गया है। बल्कि एक राम भक्त नहीं बल्कि भारी संख्या में करीब 50 लोग रोटियां बना रहे हैं। इसमें तवे का इस्तेमाल बिल्कुल नहीं किया बल्कि एक विशेष पत्थर का इस्तेमाल किया गया है। अभी इस वक्त की बात करें तो अयोध्या नगरी में दिन प्रतिदिन 7 हजार से लेकर 8 हजार तक संख्या में राम भक्त भव्य भंडारे का आनंद ले रहे हैं। भंडारे में 1 दिन में करीब चार या पांच कुंटल आटे का इस्तेमाल किया जाता है। इतना ही नहीं दोस्तों एक बार की सब्जी में करीब 5 कुंटल आलू का उपयोग किया जाता है। 5 कुंटल आलू की सब्जी के द्वारा करीब 4 या 5 हजार की संख्या में लोग भोजन से संतुष्ट हो रहे हैं। किसी भी राम भक्त से कोई पैसा नहीं लिया जाता है बल्कि राम भक्त अपनी इच्छा से दान पेटी में जो चाहे वहां दान कर सकता है। इतना ही नहीं दोस्तों वहां पर शुद्धता को ध्यान में सभी राम भक्त दिन रात खाना बना रहे हैं और राम भक्तों को खिला रहे हैं।
मतलब की रात के 2:00 बजे भी यहां भंडारा चालू रहता है। कोई भी राम भक्त भूखा नहीं होता है बल्कि रात को भी चाहे कोई सा भी समय क्यों ना हो भर पेट और बिना पैसे के भव्य प्रसाद का आनंद ले सकता है। भंडारे में दिन प्रतिदिन विभिन्न तरह के पकवान बनते हैं जैसे रोटी, चावल, आलू की सब्जी, चटनी, मिठाई इत्यादि। भंडारा पिछली 15 जनवरी से शुरू हुआ है। कहां जा रहा है कि जब तक महाराज जी का आदेश रहेगा तो शायद 45 दिनों तक चलता ही रहेगा। भगवान राम जी की कृपा ऐसी है कि खाना जैसे ही खत्म होता है वैसे ही बनना शुरू हो जाता है मतलब की कोई भी राम भक्त परेशान नहीं है। अयोध्या में दिन और रात निरंतर भंडारा चल रहा है और यहां बिना रुके आगे भी चलता रहेगा।

 

50 किलो दूध से रोज बनाई जाती है कॉफी

दिन प्रतिदिन 50 किलो दूध के द्वारा बनाई गई कॉफी को गाड़ियों की मदद से बाटा जाता है। ट्रस्ट में जितने भी सदस्य जुड़े हैं मतलब की संस्था से जितने भी सदस्य कनेक्ट है। उनके सहयोग से ही इसको निरंतर आगे बढ़ाया जा रहा है। सुबह को ब्रेकफास्ट और दोपहर की बात करें तो दोपहर के खाने में लंच रात के खाने में भक्तों को डिनर मिलता है। वास्तव में सभी का यही प्रयास है की किसी भी राम भक्त को कोई कमी महसूस बिल्कुल भी ना हो।

Advertisement

Leave a Comment