HDR Mode क्या है? कैसे वर्क करता है? इसका इस्तेमाल कहां और कब सही, कब नहीं करना चाहिए?

हेलो फ्रेंड्स आज के टॉपिक में हम HDR Mode से संबंधित कुछ जरूरी जानकारियों पर ध्यान देंगे। वैसे तो आज टेक्नोलॉजी का बहुत चलन है लेकिन कुछ लोग ऐसे भी हैं जो पूर्णता टेक्नोलॉजी से परिचित नहीं है और इस टेक्नोलॉजी वाले जमाने में सभी जानकारियां ना सही लगभग कुछ तो जानकारियां होना चाहिए। क्या पता हमें कब कौन सी चीज काम में आ जाए सभी चीजों को इंपॉर्टेंट समझना चाहिए तो आइए दोस्तों बिना देर करें HDR Mode क्या है तथा इस से रिलेटेड सभी जानकारियां नीचे विस्तार से जानते हैं-

 

HDR Mode क्या है?

HDR जिसका पूरा नाम “High Dynamic Range होता है और इसका हिंदी मतलब “उच्च गतिशील रेंज” है। यहां फीचर मोबाइल फोन के कैमरे में अवेलेबल होता है। इसका उपयोग विशेष तौर पर जब फोटो खींची या ली जाती है तब होता है। यहां फोटो या फिर वीडियो में क्वालिटी को बहुत ही वास्तविक रूप में परिवर्तित करने में सक्षम है। मतलब की आपको फोटो या वीडियो बिल्कुल नेचुरल जैसा ही लगने लगता है क्योंकि अगर कोई भी व्यक्ति फोटो या सेल्फी लेता है तो यहां उसको बैलेंस करके रखता है अर्थात जब आप किसी ऐसी जगह जाते हैं जहां पर कुछ हिस्सों में तो ज्यादा ही रोशनी है और कुछ हिस्सों में रोशनी कम है मतलब की अंधेरा है आपको फोटो क्लियर नजर नहीं आ रहा है अंधेरा जैसा प्रतीत हो रहा है तो इस सिचुएशन में एचडीआर तकनीक बहुत ही मददगार साबित हो सकती है। इसकी मदद से अगर आप फोटो क्लिक करते हैं तो आप कम रोशनी और अधिक रोशनी वाली जगह पर बिना दिक्कत के फोटो क्लिक कर सकते हैं आपकी फोटो को एचडीआर तकनीक पूरी तरह से संतुलित करने का काम करती है।

 

HDR Mode कैसे वर्क करता है?

किसी से भी कैमरे से जब समानता फोटो क्लिक की जाती है तो तब सामान्य रूप से कैमरा केवल उसी जगह का सही तरीके से फोटो ले सकता है। जहां पर या तो अच्छी रोशनी हो या फिर कम रोशनी हो। मतलब की कैमरा केवल उसी जगह पर अच्छी क्वालिटी की फोटो ले सकता है जहां पर High Exposure एवं Low Exposure वाला मौजूद क्षेत्र हो किंतु जब कोई भी व्यक्ति है एचडीआर मोड का यूज करता है तब ऐसी High Exposure एवं Low Exposure वाली प्रॉब्लम से कोई दिक्कत नहीं होती है। आपके द्वारा एचडीआर मोड में ली गई फोटो को एचडीआर मोड बहुत ही बैलेंस करके एक क्वालिटी में परिवर्तित कर देता है। एचडीआर मोड जिसके द्वारा एक ही समय पर तीन टाइप की फोटो ली जाती है। पहले वाली High Exposure दूसरी वाली Low Exposure और जो तीसरी वाली होती है उसको संतुलित रूप में रोशनी प्रोवाइड करके एक अलग सी क्वालिटी में चेंज किया जाता है। कहने का मतलब कि लिए गए फोटो में शुरू की दोनों प्रोसेस के बाद जो अंत में प्रोसेस होती है। उसमें रोशनी का बहुत ही बेहतरीन संतुलन बना रहता है।

 

HDR Mode का इस्तेमाल कहां-कहां होता है?

आज वर्तमान समय में एचडीआर मोड बहुत सी जगहों पर यूज होता है तो चलिए दोस्तों निम्न माध्यम से कुछ विशेष फील्ड में होने वाले उपयोग के बारे में जानते हैं-

मोबाइल फोन के डिस्प्ले में।
आजकल तो गेमिंग में भी एचडीआर मोड देखने को मिल रहा है।
कई प्रकार की टीवी एवं मॉनिटर में भी एचडीआर का फीचर आता है इत्यादि।
विशेष प्रकार के कैमरों में।

ओर भी बहुत सी फील्ड ऐसी है जिनमें एचडीआर मोड़ आता है। भविष्य में बहुत सी चीजों में भी एचडीआर मोड देखने को मिल सकता है।

 

HDR Mode का इस्तेमाल कब करना सही होता है?

एचडीआर मोड का इस्तेमाल हर जगह पर नहीं होता है। इसकी कुछ सीमा होती है। जिसमें इसका इस्तेमाल करना सही है। बात करते हैं कि इसका इस्तेमाल कब करना उचित है तो जब कोई भी व्यक्ति मोबाइल फोन से फोटो लेता है। तब अगर कुछ क्षेत्र में ज्यादा ही रोशनी है और कुछ क्षेत्र में कम रोशनी आ रही है तो आप उस स्थिति में एचडीआर मोड का इस्तेमाल कर सकते हैं क्योंकि ऐसी स्थिति में एचडीआर मोड आपके द्वारा लिए फोटो को बिल्कुल एक अच्छी क्वालिटी में बैलेंस कर देता है। आपकी फोटो में ना तो ज्यादा लाइट होती है और ना ही ज्यादा डार्क होता है। उस फोटो को बेहतरीन एडिट करके फोटो को एक क्वालिटी देने में बड़ी अहम् भूमिका निभाता है।

 

HDR Mode का इस्तेमाल कब नहीं करना चाहिए?

एचडीआर मोड का इस्तेमाल कब करना चाहिए यह बात तो आपको दोस्तों अवश्य समझ में आ गई होगी लेकिन अब एचडीआर मोड का इस्तेमाल कब नहीं करना चाहिए। इसके बारे में जानकारियां जानते हैं तो जब ऑब्जेक्ट में गति होती है तब एचडीआर मोड का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए अर्थात जैसे कि आप किसी व्यक्ति की फोटो ले रहे हैं एचडीआर मोड में और अगर वहां व्यक्ति हिलता-डुलता है या फिर चल रहा होता है तब एचडीआर मोड का यूज नहीं करना चाहिए क्योंकि इससे आपके फोटो के बिगड़ने के काफी चांस है।

➤ यहां भी जाने- Demat Account क्या है? इसे कैसे खोले।

 

हमने क्या सीखा?

आज हमने इस लेख में सीखा कि HDR Mode क्या है? आशा करता हूं कि यह लेख आपके लिए उपयोगी साबित हुआ है। यदि आपके मन में अगर अभी भी कोई भी HDR से रिलेटेड कोई सा भी प्रश्न है तो आप नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके निसंकोच पूछ सकते हैं तथा इस आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करें।
“Thanks”

 

कुछ FAQ-

Q.1 एचडीआर क्या काम करता है?
Ans. आपके द्वारा एचडीआर मोड में ली गई फोटो को एचडीआर मोड बहुत ही बैलेंस करके एक क्वालिटी में परिवर्तित कर देता है। एचडीआर मोड जिसके द्वारा एक ही समय पर तीन टाइप की फोटो ली जाती है। पहले वाली High Exposure दूसरी वाली Low Exposure और जो तीसरी वाली होती है उसको संतुलित रूप में रोशनी प्रोवाइड करके एक अलग सी क्वालिटी में चेंज किया जाता है।

Q.2 एचडीआर का उपयोग कब नहीं करना चाहिए?
Ans. आप किसी व्यक्ति की फोटो ले रहे हैं एचडीआर मोड में और अगर वहां व्यक्ति हिलता-डुलता है या फिर चल रहा होता है तब एसडीआर मोड का यूज नहीं करना चाहिए क्योंकि इससे आपके फोटो के बिगड़ने के काफी चांस है।

Q.3 एचडीआर का फुल फॉर्म क्या है?
Ans. एचडीआर का फुल फॉर्म “High Dynamic Range” होता है

Leave a Comment