आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस AI क्या है ? काम कैसे करता है ? Login

हम मनुष्य को इस पृथ्वी में सबसे महत्वूर्ण बनाने वाली चीज़ है-इंटेलिजेंस। जो हमारी निपुणता को सुधारने में और हमारी सभ्यत्ता की स्थापना करने में बहुत ही अधिक भूमिका निभाती है, अभी वर्तमान में देखते है तो Computer ने बहुत विकास कर लिया है।
Computer मनुष्य के जैसा सोच सकता है व समझ भी सकता है ऐसे में अगर हम देखे की वर्तमान समय में एक नया word काफी चर्चा का विषय बना हुआ है उसे आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस (artificial intelligence) के नाम से जानते है अभी के समय में देखते है तो इसका उपयोग अलग-अलग क्षेत्र में किया जा रहा है।

आज Computer मनुष्य के समान सभी कार्य कर रहा है और जिस प्रकार मनुष्य अपने दिमाग से किसी भी काम को बड़ी सरलता से कुछ समय में पूरा कर लेता है ठीक वैसे-ही आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस (Artificial Intelligence) के द्वारा कोई भी काम मनुष्य बहुत कम समय में पूरा कर सकने में सक्षम है।

Advertisement

अगर आपको इसके बारे में किसी भी प्रकार की कोई जानकारी नही है की आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस क्या है व कैसे काम करती है तो
आइये इसके बारे में हम आपको पूरी जानकारी बताते है –

 

आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस क्या है ? ( Artificial Intelligence Kya hai ? ) / What is Artificial Intelligence (AI) ?

Artificial Intelligence (AI) एक बौद्धिक क्षमता होता है जिसको आर्टिफीसियल तरीके से विकसित किया जाता है आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस एक ऐसा सिस्टम है जिसे मशीनो का दिमाग भी कहते है जिसकी सहायता से वे सोच कर व समझकर निर्णय ले सके या हम सरल शब्दो में बोले तो यहाँ सिस्टम बिल्कुल मनुष्य के दिमाग जैसे काम करता है जिस तरह मनुष्य अपने दिमाग की मदद से कोई भी Problem का हल सरलता से खोज लेता है।
वैसे ही आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस की मदद से मशीने भी खुद हल निकाल लेती है।

आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस को हिंदी में ‘ कृत्रिम बुद्धिमता ‘ कहते है जिसका अर्थ है मनुष्य द्वारा निर्मित समझ, या मनुष्य द्वारा निर्मित बुद्धिमता इसे मशीनी बुद्धि या मशीनी मस्तिष्क भी कहा जाता है।

 

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस / Artificial Intelligence की खोज किसने की थी ?

आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस के बारे में सबसे पहले विश्व को जॉन मेकॉर्थी ने बताया था। जिसे आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस का जनक ( Father of Artificial Intelligence ) कहा जाता है। जॉन मेकॉर्थी एक अमेरिकी computer scientist और researcher ( शोधकर्ता ) थे । उन्होंने 1956 में Darkmouth college की एक कार्यशाला में भाग लिया था। वह उन्होंने Artificial के बारे में important जानकारी दी।

जॉन मेकॉर्थी के अनुसार artificial intelligence एक ऐसा कंप्यूटर विज्ञान हैं जिसकी help से मशीनो में बुद्धिमता का विकास होता है।

 

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) के प्रकार –

आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस के बहुत प्रकार होते है लेकिन मुख्य रूप से 4 भागो में बाटा गया है:-

Types of Artificial Intelligence (AI)

1. पूणतः प्रतिक्रियात्मक (Purely Reactive)
2. सिमित स्मृति (Limited Memory)
3. मस्तिष्क सिद्धांत (Brain Theory)
4. आत्म चेतन (Self Conscious)

1. Purely Reactive AI :

यह पूणतः प्रतिक्रियात्मक होती है जिसका मतलब की क्रिया के जवाब में प्रतिक्रिया होना यहाँ वातावरण और परिस्थिति से सीधे सुचना ग्रहण करके और उसके आधार पर सलाह लेता है इसके पास विश्व की जानकारी नहीं होती है यहाँ खुद के संरक्षित नहीं है और न तो अपने अनुभव के आधार पर वर्तमान मुसीबतो पर निर्णय लेता है ये केवल एक ही क्षेत्र में विषेशज्ञता पा सकता है।

उदाहरण => IBM का Deep Blue जिसने कास्पोरोव को शतरंज में हराया था।

2. Limited Memory AI :

इस कैटेगिरी में उन मशीनो को रखते है जिसके पास थोड़ी-बहुत मेमोरी होती है जैसेकी => स्वचिलित कार।
हालंकि इस तरह की मशीन ज्यादा वक़्त तक Data को Save कर नहीं सकती। क्युकी इसकी मेमोरी कम होती है। इसीलिए ये सिर्फ केवल Recent Experience को ही याद रखती है। परन्तु जरूरत के समय पर ये अपने पुराने वाले Data को हटा देती है। व जो New Data होता है उसको Store कर लेती है।

3. Brain Theory AI :

ये फिलहाल एक Hypothetical Concept है। जो मनुष्य मस्तिष्क के सिद्धांत पर आधारित है। ये सूचना को समझने व Process कर ने के लिए उन चीज़ो का उपयोग करती है जो मनुष्य मस्तिष्क उपयोग करता है। मतलब की इंसानी दिमाग की तरह सोच-समझने व सुचना को Process करने में सक्षम है।
परन्तु अब तक ऐसी कोई मशीन नहीं बानी है, जो इस सिद्धांत पर कार्य करती है। सही में Brain Theory AI तो सिर्फ एक Concept है। अब तक इस पर काम चल रहा है। परन्तु इसमें कुछ हद तक सफलता जरूर मिली है।

4. Self Conscious AI :

इसको Self Awareness AI भी कहते है। इसमें ऐसी मशीने होती है। जो मनुष्य की तरह सोच सके,समझ सके व मनुष्य के जैसे महसूस कर सके अर्थात –
जैसे हम सुख-दुःख,खुशी-गम आदि को आसानी से Feel कर सकते है। ये भी ठीक वैसे ही इन स्तिथि को बड़ी आसानी से महसूस कर सकती है तथा दुसरो की मन की बात को बड़ी ही सरलता से जान सकती है।
परन्तु अभी ऐसी कोई भी मशीन नहीं आयी है। हाँ पर इस दिशा में कही सालो से रिसर्च जरूर चल रही है और अगर ये मशीन भविष्य में बन जाये या सफल हो जाये तो हम जिंदगी का रहस्य सुलझाने में सफल हो सकते है।

 

Artificial Intelligence के अनुप्रयोग –

आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस सभी क्षेत्र में बहुत ही आवश्यक है  क्युकी इससे सभी कठिनाई दूर हो जाती है तथा नए-नए Idea को खोजना काफी सरल हो जाता  है। आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस  Education में,Share Market में,और यहाँ तक की ये space तक हर जगह प्रयोग आ रहा है आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस का स्थान सबसे सर्वोपरि है। ये हम मनुष्य को इतना काम आ रही की हमें ज्यादा परेशानी का सामना नहीं करना पड़ता है।

मशीन लर्निग (Machine Learning)
बुद्धिमान  रोबोट्स (Intelligent Robots)
मशीन दृस्टि (Machine Vision)
कंप्यूटर गेम (Computer Games)
एक्सपर्ट सिस्टम (Expert System)

इत्यादि अनुप्रयोग जिनमे Artificial Intelligence का ज्यादा से ज्यादा प्रयोग होता है।

Artificial Intelligence के उपयोग –

Artificial Intelligence (AI) का आज के समय में बहुुत क्षेत्रो में उपयोग हो रहा है ऐसा कोई कार्य नहीं जिसमे इसका उपयोग न हो क्युकी यहाँ आज इतना उपयोगी बन गया है की सुबह से लेकर रात तक इसका उपयोग होता है। आज एक तरह से इसको देखे तो ये हमारी Life का एक  Part बन गया है।
कुछ उदाहरण के माध्यम से  जानते है-

1. Education System –

ज्ञान के क्षेत्र में AI का पूरी तरह से उपयोग होता है। जैसे- Online Exams अभी वर्तमान समय में ऐसा होने लगा है की हम मशीनी सिस्टम  से Exams
Online दे सकते है कहने का मतलब की हम मनुष्यो को Exams देने के लिए ज्यादा परेशान नहीं होना पड़ता है। और देखे तो आज घर बैठे पढ़ाई कर सकते है Online Study ऐसा माध्यम है जो बहुत उपयोगी साबित हो रहा है।

2. Health Sector –

Health sector में AI का सबसे महत्वपुर्ण स्थान है आज लगभग सभी बीमारिया का इलाज संभव है आज ऐसी-ऐसी मशीन्स बन गई है की मनुष्य लगभग  कुछ ही समय के अंदर स्वस्थ हो सकता है।

3.Finance Sector –

इस सेक्टर में पुरे संसार की  Reports व Analysis होती है। जिसमे बहुत सारा समय लगता है।  इसलिए AI की  सहायता से डाटा Analysis व  Personalized रिपोर्ट तैयार हो सके तथा कम समय में महत्वपूर्ण जानकारी मिल सके जिससे हमारे समय की बहुत  बचत होती है।

जो बड़े-बड़े Financial Institution व Banks होते है वे अपने कार्य को कम समय में करने के लिए AI की सहायता लेते है जैसे => हम किसी भी Bank में नया Account Open करवाते है या फिर पैसे निकलाते है तो इन कार्य को कम समय में करने के लिए Artificial Intelligence का उपयोग करते है।

4. Manufacturing –

निर्माण उद्योग ( Manufacturing ) में सबसे अधिक श्रम व समय की आवश्कता होती है  । इसमें हम मनुष्यो को इतना Profit होता है की हमारा वक्त तो बचता है साथ ही ऊर्जा,श्रम तथा पैसे की भी बचत होती है इसी कारण इस क्षेत्र में AI का अधिक से अधिक Use होता है। अभी ऐसी Machines बन चूकि है जो Automatic operate होती है

But पहले भी Machines होती थी जिन्हे मानव श्रम के द्वारा Manually Operate करना पड़ता था पर अब समय बदलता जा रहा है अब बिना श्रम के भी काम हो रहा है।

5. In Daily Life –

Daily Life में AI का महवपूर्ण स्थान है हमारे घर में लगभग ज्यादा-से-ज्यादा Machines का इस्तमाल होता है जैसे Kitchen में Mixture,Refrigerator,Induction.Stovesइत्यादि  का उपयोग जरुरी है और भी देखे तो TV से लेकर AC व LED bulb तथा Cooler-Fan भी जरुरी हिस्सा बन चुके  है।

अब तो Electric LED Watch भी आने लग गई है। कही-न-कही ये सब चीजे दैनिक जीवन का एक हिस्सा बन चुकी है। Amazon Alexa से लेकर Google Voice Assistant भी हमारे लिए महत्वपुर्ण है ये चीजे इतनी मह्त्वपूण है की  इनके बिना हमारा दिन नहीं गुजर  सकता  है।

6. Space Exploration –

Space Exploration का कार्य बहुत ही कठीन है इसी कारण इसमें AI का बहुत ही मह्त्वपूण स्थान है कहने का मतलब ये की Space Missions का पूरी तरह से नियंत्रण Automatic होता है।
तथा जिन यंत्रो को अंतरिक्ष में पहुंचाने के लिए प्रयोग में लाया जाता है उन यंत्रो को अपना कार्य स्वयं ही करना पड़ता है
बिना AI की मदद से Space Exploration का काम हो ही नहीं सकता है।

7. Surveillance –

Surveillance System में AI का योगदान बहुत ही महत्व रखता है। इस System में देखते है तो आज कैमरा ज्यादा काम आने वाली चीज है जिसकी मदद से दुश्मनो पर ,चोरो पर नजर रखी जा सकती है तथा उनका पता भी लगाया जा सकता है।
Computer Programs एक ऐसा साधन है जो मनुष्य,जानवर व किसी भी वस्तु में अन्तर जान सकता है और उनकी आवाज व तस्वीर के जरिये पता कर सकता है।
Machine Vision एक ऐसी टेक्नोलॉजी है जो बहुत ही Advanced स्तर की है ये किसी Object की length, breadth, height और speed का पता बड़ी आसानी से लगा सकती है। Machine Vision को हिंदी में ‘मशीन दृष्टि’ कहते है। इसकी अवधारणा लगभग 1930 के दशक की है।

 

Artificial Intelligence का Future –

आज आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस का भविष्य बहुत ही सर्वोच्च नजर आ रहा है। क्यूकि आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस आज  हम मनुष्यो के लिए बहुत महत्व रखता है दैनिक जीवन में Machines इतनी Important हो गयी की हमारा कोई सा भी कार्य मशीन के बिना तो संभव ही नहीं है अभी वर्तमान में मनुष्य किसी कार्य को पूरा करने के लिए पूरी तरह से मशीनो पर निर्भर है। Machines एक तरह से मनुष्य जीवन का सबसे जरुरी हिस्सा बन चूकि है ।

हां,भविष्य में देखे तो Machines इतनी ज्यादा Advanced स्तर की तथा Smart हो जाएगी की मशीने बहुत समझदारी के साथ खुद कार्य करेगी मतलब एक तरीके से मशीनो को Command देना नहीं पड़ेगा  वो खुद Automatic Work करेगी। जो की बहुत ही गलत है क्योकी फिर इंसान आलसी होकर  पूरी ही तरह से  मशीनो पर निर्भर हो जायेगा वहाँ ख़ुद कार्य नहीं करेगा।
तथा फिर इंसान अपने कार्यो पर इतना ध्यान भी नहीं देगा उसके काम करने की जो आदत थी वो छूट जायेगी।

 

Artificial Intelligence से खतरा –

हम जानते है की जिस प्रकार हर सिक्के के दो पहलु होते है ठीक वैसे ही Artificial Intelligence के दो पहलु है। अगर एक तरफ वह मनुष्यो के लिए वरदान का काम कर  है  तो दूसरी तरफ देखे तो वही जहर का काम कर रहा है क्युकी पूरा Work अगर  Machines की Help से होने लगा तो श्रमिकों का काम ख़त्म हो जायेगा उन्हें जो रोजगार मिलता था वह भी बंद हो जायेगा। जिस कारण उनके लिए पैसे Save करना तो दूर की बात है। वे ठीक से परिवार का खर्चा भी नहीं उठा पाएंगे।

अगर Future में मनुष्य मशीन की हेल्प लेने लगा तो हर तरफ बेरोजगारी ही बेरोजगारी होगी  जो की एक बहुत ही बड़ी समस्या का रूप ले सकती है लोगो के रोजगार के सभी साधन ख़त्म हो जायेगे उनको रोजगार के सभी साधनो से हाथ धोना पड़ सकता है।

Computer जैसे उपकरण ने बहुत सी नौकरियों को बंद करवा दिया है जो की बेरोजगारी का बड़ा कारण है। मशीनो का उपयोग करने वाले मनुष्यो में फिर अपने कार्य के प्रति रूचि नहीं रहेगी वो फिर अपने कार्य पर ज्यादा ध्यान नहीं देंगे उनमे मन में आलस का भूत सवार हो जायेगा।

 

Summary –

इस समय आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस बहुत से क्षेत्र में काम आ रहा है। जैसे=> जो काम दस व्यक्ति मिलकर करते है वही कार्य मशीन के द्वारा एक व्यक्ति बहुत कम Time में पूरा कर लेता है। Machines के कारण एक तरफ हमको फयदा भी है तो एक तरफ नुकसान भी हमको ही है क्योकी ये मशीन लोगो की Job छीन रही है।
उनके पास से कमाने के एक नहीं बल्कि सभी साधन छुड़ा रही है चिंता की बात तो यहाँ है की मनुष्य ने ही मशीनो का निर्माण किया है और
यही मशीने मिलकर मनुष्यो का विनाश कर रही है।

 

FAQ :

Q.1 AI कैसे काम करता है?

Ans. Artificial Intelligence या AI एक बौद्धिक क्षमता होता है जिसको आर्टिफीसियल तरीके से विकसित किया जाता है आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस एक ऐसा सिस्टम है जिसे मशीनो का दिमाग भी कहते है जिसकी सहायता से वे सोच कर व समझकर निर्णय ले सके या हम सरल शब्दो में बोले तो यहाँ सिस्टम बिल्कुल मनुष्य के दिमाग जैसे काम करता है जिस तरह मनुष्य अपने दिमाग की मदद से कोई भी Problem का हल सरलता से खोज लेता है।

 

Q.2 आर्टिफीसियल इंटेलिजेंस AI के जनक कौन है ?

Ans. आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस AI के जनक जॉन मैकार्थी हैं। जॉन मेकॉर्थी एक अमेरिकी Computer Scientist और Researcher (शोधकर्ता) थे। 1956 में उन्होंने Darkmouth College की एक कार्यशाला में भाग लिया था व Artificial के बारे में important जानकारी दी।

 

Q.3 Artificial Intelligence से क्या खतरा है ?

Ans. Computer जैसे उपकरण ने बहुत सी नौकरियों को बंद करवा दिया है जो की बेरोजगारी का बड़ा कारण है। मशीनो का उपयोग करने वाले मनुष्यो में फिर अपने कार्य के प्रति रूचि नहीं रहेगी वो फिर अपने कार्य पर ज्यादा ध्यान नहीं देंगे उनमे मन में आलस का भूत सवार हो जायेगा।

 

Advertisement

Leave a Comment